गर्मियों में बनाइए आम की पूरणपोली:

पूरे देश में या तो सर्दी का मौसम खत्म हो चुका है तो खत्म होने की कगार पर है।
गर्मी का मौसम शुरू होते ही लोगों को आम का बेसब्री से इंतजार रहता है।
लोग इस बेहद लोकप्रिय फल को कई तरह की रेसिपी में भी इस्तेमाल करते हैं।
आम से बनने वाली तमाम डिशों में एक है
‘आम की पूरण पोली’
आम की मदद से बनने वाली यह डिश भारत के कई हिस्सो में खास लोक प्रिय है।
आइए,
आज हम आम की पूरण पोली बनाना बताएंगे।
पूरन पोली पश्चिम भारत की बहुत ही प्रसिद्ध मिठाई है. किसी भी और भारतीय व्यंजन के जैसे पूरन पोली को भी बनाने की कई विधियाँ हैं.
मैने पूरन पोली को बनाने के लिए आम का प्रयोग किया है.
मैं इनको रोटी चपाती के जैसे सेकना पसंद करता हूँ. वैसे मेरी एक महाराष्ट्रीयन सहेली पूरन पोली को पराठे के जैसे भी बनाती थी.
तो आप भी बनाइए यह स्वादिष्ट पूरन पोली.

सामग्री:

आम 700 ग्राम
मावा 500 ग्राम
घी 100 ग्राम
शकर 250 ग्राम
इलायची पीसी हुई
काजू किशमिश कतरन 50 ग्राम
चुटकी भर केसर
मैदा 400 ग्राम
मोयन के लिए घी 50 ग्राम

विधि:

मैदे में मोयन डाल कर कड़क आटा गूंथ लें और कपड़े से ढंक कर आधे घंटे के लिए अलग रख दें।
आम को छील कर गूदा निकालें और बिना पानी डाले मिक्सर में अच्छे से फेंट लें।
जरूरत लगे तो चलनी से गूदे को छान लें।
मावे को 5-7 मिनट तक अलग से भून लें।
इसके बाद फ्राइंग पेन में आम रस डालकर थोड़ी देर तक पकाएं।
अब उसमें मावा और शकर डाल दें।
पानी सूखने पर घी डालकर कुछ देर और पकाएं।
नीचे उतार कर केसर, काजू, किशमिश, इलायची पाउडर डाल दें।
भरावन के लिए पूरण तैयार है।
इसे किसी थाली में फैला कर ठंडा होने दें।
मैदे की छोटी-छोटी लोइयां बनाकर उसे बेलें।
इस के अन्दर थोड़ा-थोड़ा तैयार किया हुआ पूरण अच्छी तरह पैक करें।
अब इसे सावधानी पूर्वक धीरे-धीरे इस तरह बेलें कि पूरण बाहर नहीं आए।
इसे नान स्टिक तवे पर सेंके।
स्वेच्छा से इसे पराठे की तरह सेंके या रोटी की तरह भी सेंक सकते है।
घी लगाकर सर्व करें।

क्या ये रेसिपी आपको पसंद आई?

Comments

comments

अपने क्षेत्र में हो रही जैन धर्म की विभिन्न गतिविधियों सहित जैन धर्म के किसी भी कार्यक्रम, महोत्सव आदि का विस्तृत समाचार/सूचना हमें भेज सकते हैं ताकि आप द्वारा भेजी सूचना दुनिया भर में फैले जैन समुदाय के लोगों तक पहुंच सके। इसके अलावा जैन धर्म से संबंधित कोई लेख/कहानी/ कोई अदभुत जानकारी या जैन मंदिरों का विवरण एवं फोटो, किसी भी धार्मिक कार्यक्रम की video ( पूजा,सामूहिक आरती,पंचकल्याणक,मंदिर प्रतिष्ठा, गुरु वंदना,गुरु भक्ति,गुरु प्रवचन ) बना कर भी हमें भेज सकते हैं। आप द्वारा भेजी कोई भी अह्म जानकारी को हम आपके नाम सहित www.jain24.com पर प्रकाशित करेंगे।
Email – jain24online@gmail.com,
Whatsapp – 07042084535