ट्राई करें ये ईजी और झट से तैयार, ब्रेड के गुलाब जामुन:

गुलाब जामुन एक बेहद पसंद करी जाने वाली पारंपरिक मिठाई है.
पारंपरिक गुलाब जामुन खोए मावा से बनाए जाते हैं वैसे आजकल आलू, पनीर, इत्यादि के गुलाब जामुन भी प्रचलन में हैं.

खोया या मावा से तो गुलाब जामुन आपने कई बार बनाए होंगे,
पर यदि खोया नही है तो भी आप झटपट गुलाब जामुन बना सकते है.
मिठाई पूरे भारत में बहुत लोकप्रिय हैं, लेकिन गुलाब जामुन इसका तो कोई तोड़ ही नही है.
अच्छे गुलाब जामुन मुलायम होते हैं और मुँह में रखते ही घुल जाते हैं.
ब्रेड के गुलाब जामुन कि यह विधि एकदम पारंपरिक बंगाली विधि है जिसे मुझे मेरी एक बंगाली सहेली अमृता मुखर्जी ने बनाना सिखाया है.
मैं अमृता का बहुत शुक्रगुज़ार हूँ जिसने मुझे लंच पर बुलाया और ना केवल स्वादिष्ट खाना खिलाया
बल्कि यह स्वादिष्ट ब्रेड के गुलाब जामुन भी बनाना बताए.
गुलाब जामुन से स्वादिष्ट शायद ही कोई दूसरी मिठाई होगी।
अगर आप भी गुलाब जामुन प्रेमी हैं और खोया वाला गुलाब जामुन खा कर थोड़ा बोर हो चुके हैं
तो घर में रखी हुई ब्रेड से ही गुलाब जामुन बना डालिये।
वैसे भी रात के खाने के बाद हमेशा कुछ न कुछ मीठा खाने का मन करता ही है।
तो आइये जल्दी से शुरू करते हैं, गुलाब जामुन बनाने की विधि।
किसी मेहमान के आने पर ये क्विक रेसिपी ज़रूर ट्राइ कीजिए.

सामग्री:

वाइट ब्रेड – 8 स्लाइस
दूध – 1/2 कप
मलाई – 1 बड़ा चम्मच
चीनी – 1कटोरी
पानी – 1 कटोरी
घी – तलने के लिए

विधि:

सबसे पहले एक पेन मे चीनी व पानी डाल कर गैस पर चाशनी बनाने रख दें
दूसरी तरफ कड़ाही मे घी डाल कर धीमी गैस पर गरम होने रख दें.
अब आप एक बड़े बौल मे ब्रेड के छोटे छोटे टुकड़े तोड़ कर डाले
इसमे मलाई व दूध डाल कर आटे की तरह ही चिकना सा मिश्रण हाथ से मसल कर बना लें.
चाशनी को बीच बीच मे चम्मच से चलाते रहे.
हमे यह पतली चाशनी बनानी है.
एक तार वाली.
अब तक घी गरम हो गया होगा,
आप हाथ से छोटे छोटे गोले बनाइए और धीरे से कढाही मे डालिए,
इन्हे मीडियम गैस पर गोल्डन ब्राउन होने तक तलें.
अब इन तले हुए गोलो को चाशनी मे डालिए.
बस 1/2 या 1 घंटे बाद ये सर्व करने के लिए तैयार है.
ये देखने और स्वाद मे बिल्कुल गुलाब जामुन की तरह होते है.
लीजिये तैयार हो गए आपके स्वादिष्ट मीठे गरमा गरम ब्रेड के गुलाब जामुन, इन पर पिस्ते की कतरन छिड़क कर सर्व करें।

नोट:

चाशनी मे आप अपनी पसंद के हिसाब से इलायची पाउडर या केसर के कुछ धागे डाल सकते है.
ब्रेड के टुकड़ों पर सारा दूध एक साथ ना डाले.
यदि ब्रेड सूखी है तो दूध ज़्यादा पड़ेगा और अगर ताजी व मुलायम तो कम.
यदि मिश्रण गीला लगे तो उसमे और सूखी ब्रेड मिला सकते है.

By: Ashish Sarabhai

Comments

comments

अपने क्षेत्र में हो रही जैन धर्म की विभिन्न गतिविधियों सहित जैन धर्म के किसी भी कार्यक्रम, महोत्सव आदि का विस्तृत समाचार/सूचना हमें भेज सकते हैं ताकि आप द्वारा भेजी सूचना दुनिया भर में फैले जैन समुदाय के लोगों तक पहुंच सके। इसके अलावा जैन धर्म से संबंधित कोई लेख/कहानी/ कोई अदभुत जानकारी या जैन मंदिरों का विवरण एवं फोटो, किसी भी धार्मिक कार्यक्रम की video ( पूजा,सामूहिक आरती,पंचकल्याणक,मंदिर प्रतिष्ठा, गुरु वंदना,गुरु भक्ति,गुरु प्रवचन ) बना कर भी हमें भेज सकते हैं। आप द्वारा भेजी कोई भी अह्म जानकारी को हम आपके नाम सहित www.jain24.com पर प्रकाशित करेंगे।
Email – jain24online@gmail.com,
Whatsapp – 07042084535