जायकेदार पंचमेल दाल तड़का:

क्या आप वही प्लेन सी बोरिंग दाल खा-खा कर बोर हो चुके हैं?
तो आज कुछ नया ट्राई कीजिये और घर पर आसानी से बनाइये पंचमेल दाल तड़का.
पंचमेल दाल थोड़ी स्पाइसी होती है जिसका टेस्ट काफी स्वादिष्ट लगता है।
अगर आपको यह दाल बनानी नहीं आती है तो,
चिंता ना करें क्यों कि हम इसकी बहुत ही आसान सी रेसिपी ले कर आए हैं।

पंचमेल दाल बनाने में आसान और स्वाद में बेहतरीन है।
यदि इसे जीरा राइस के साथ खाया जाए तो इस का स्वाद और भी ज्यादा लाजवाब हो जाता है।
घरों में दुपहर के समय दाल चावल बनाना आम बात है तो ऐसे में आज कुछ नया ट्राई कीजिये।
आज अपने परिवार जनों के लिये पंचमेल दाल बनाइये।
दाल बनाने के लिये आपको दाल मिक्स करना पड़ेगा,
जिस से स्वाद निखर कर आएगा और साथ में आप को हर दाल से प्रोटीन भी मिलेगा।
पंचमेल दाल अपने नाम के अनूरूप ही पाँच दालों को मिलकर बनाई जाती है और यह भी राजस्थान की ख़ासियत है.
इस दाल को बाटी के साथ परोसा जाता है.
पंचमेल दाल स्वादिष्ट होने के साथ पौष्टिक भी होती है.
यह प्रोटीन का एक अच्छा स्रोत्र है.
दाल और बाटी के साथ एक खास राजस्थानी मिठाई भी बनाई जाती है जिसे चूरमा कहते हैं.
तो चलिए फिर सबसे पहले बनाते हैं पंचमेल दाल.

सामग्री:

4 लोगों के लिए
अरहर दाल- 1/8 कप
मसूर दाल -1/8 कप
मूँग दाल छिलका -1/8 कप
उड़द दाल -1/8 कप
चने की दाल -1/8 कप्स
नमक- 1¼ छोटा चम्मच
हल्दी पाउडर- ½ छोटा चम्मच

तड़के के लिए:

टमाटर- 1 मध्यम
जीरा -1 छोटा चम्मच
हींग -2 चुटकी
तेज पत्ते -2
लौंग- 6-8
खड़ी लाल मिर्च- 2
पिसी लाल मिर्च½छोटा चम्मच
गरम मसाला-½छोटा चम्मच
धनिया पाउडर- 1 छोटा चम्मच
अमचूर पाउडर-½छोटा चम्मच
घी- 2-3 बड़ा चम्मच
कटा हरा धनिया- 2 बड़ा चम्मच परोसने के लिए
देसी घी- 1 बड़ा चम्मच/ स्वादानुसार
पंचमेल दाल के लिए लगभग सभी दालें लगभग 30-35 ग्राम होनी चाहियें.

बनाने की विधि:

सभी दालों को बीनिये और फिर धो लीजिए.
लगभग 3 पानी में दालों को 1 घंटे के लिए भिगो दीजिए.
अब आप दाल में नमक और हल्दी पाउडर डालकर उबालिए.
दाल को अच्छे से गलाने के लिए कुकर में 2-3 सीटी लेनी पड़ती हैं.
इस में लगभग 15 मिनट का समय लगता है.
उबालने के बाद अगर दाल अधिक गाढ़ी है तो ज़रूरत के अनुसार थोड़ा और पानी डालें.

उबली दालें तड़के के लिए:

टमाटर को धोकर महीन-महीन काट लें.
अब एक कड़ाही में घी गरम करें,
इस में जीरा तड़काएँ और फिर हींग डालें.
अब इसमें तेज पत्ते, खड़ी लाल मिर्च और लौंग डालें और धीमी आँच पर लगभग 30 सेकेंड्स भूनें.
अब कटे हुए टमाटर डालें और साथ में डालें धनिया पाउडर, और पिसी लाल मिर्च.
मसाले को घी छोड़ने तक भूनें.
इस में तकरीबन दो से टीन मिनट का समय लगता है.अब इस में गरम मसाला और अमचूर पाउडर डालें और अच्छे से मिलाएँ.
तड़के को दाल में डालें और अच्छे से मिलाएँ.
अब दाल को 2-3 मिनट के लिए पकाएँ और फिर आँच को बंद कर दीजिए.
राजस्थानी पंचमेल दाल अब तैयार है.
कटी हरी धनिया से दल को सजाएँ और सर्व करते समय अपने स्वाद के अनुसार गरम घी डाल कर परोसें इस दाल को.
पंचमेल दाल को आमतौर पर बाटी के साथ परोसा जाता है.
वैसे आप चाहें तो इसे रोटी और चावल के साथ भी परोस सकते हैं.
पंचमेल दाल को सर्व करते समय उसके ऊपर गरम घी डाल कर परोसने का चलन है
लेकिन अगर आप घी किसी वजह से नही डालना चाहते हैं तो इस दाल को बिना घी के ऐसे ही हरे धनिया से सजाकर परोसिए.

By: Ashish Sarabhai

Comments

comments

अपने क्षेत्र में हो रही जैन धर्म की विभिन्न गतिविधियों सहित जैन धर्म के किसी भी कार्यक्रम, महोत्सव आदि का विस्तृत समाचार/सूचना हमें भेज सकते हैं ताकि आप द्वारा भेजी सूचना दुनिया भर में फैले जैन समुदाय के लोगों तक पहुंच सके। इसके अलावा जैन धर्म से संबंधित कोई लेख/कहानी/ कोई अदभुत जानकारी या जैन मंदिरों का विवरण एवं फोटो, किसी भी धार्मिक कार्यक्रम की video ( पूजा,सामूहिक आरती,पंचकल्याणक,मंदिर प्रतिष्ठा, गुरु वंदना,गुरु भक्ति,गुरु प्रवचन ) बना कर भी हमें भेज सकते हैं। आप द्वारा भेजी कोई भी अह्म जानकारी को हम आपके नाम सहित www.jain24.com पर प्रकाशित करेंगे।
Email – jain24online@gmail.com,
Whatsapp – 07042084535