Sihoniyaji, Madhya Pradesh

मध्यप्रदेश के मुर्रैना जिले के अर्न्तगत सिहोनियाजी क्षेत्र में भूगर्भ से प्राप्त ११ वी शताब्दी की भगवन शांतिनाथ की १६ फ़ुट की खडगासन प्रतिमा विराजमान हैं, इनके दोनों ओर भगवान अरहनाथ एवं भगवान कुंथुनाथ की १०-१० फ़ुट की खडगासन प्रतिमाये विराजमान हैं, ग्राम में खुधायी होने पर आज भी जैन प्रतिमाये मिलती रहती हैं अनेक मुर्तिया मंदिर के संग्रहालय में रखी गयी हैं ४ थी शताब्दी में यहाँ ११ जैन मंदिर होने का उल्लेख हैं.

Sinhoniya is an ancient city established by ancestors of King Surajsen, the founder of Gwalior City, 2000 years ago. The king had sound faith in Jain Dharma. He constructed a big Jain Temple in Gwalior Fort and a temple in Sinhoniya. It is said that there were 11 Jain Temples at Sinhoniya established by Jaiswal Jains in 4th – 5th century.
This city was under the influence of Jains up to 10th century. Latter on this place was ruined by Muslim invaders, temples & idols were destroyed.

How to reach:

Road:  Jeeps & Busses are available from Murena to Sinhoniya connected by smooth road.
Train:  Station Murena on Gwalior-Agra Line 30 km from Kshetra
Airport:  Gwalior

Nearby Places:

Very artful Kankan Matha Shiva Temple in Khajuraho style without use of cement & lime, Hanuman Mandir and ancient Durga Mandir are also pleasant.

Comments

comments

अपने क्षेत्र में हो रही जैन धर्म की विभिन्न गतिविधियों सहित जैन धर्म के किसी भी कार्यक्रम, महोत्सव आदि का विस्तृत समाचार/सूचना हमें भेज सकते हैं ताकि आप द्वारा भेजी सूचना दुनिया भर में फैले जैन समुदाय के लोगों तक पहुंच सके। इसके अलावा जैन धर्म से संबंधित कोई लेख/कहानी/ कोई अदभुत जानकारी या जैन मंदिरों का विवरण एवं फोटो, किसी भी धार्मिक कार्यक्रम की video ( पूजा,सामूहिक आरती,पंचकल्याणक,मंदिर प्रतिष्ठा, गुरु वंदना,गुरु भक्ति,गुरु प्रवचन ) बना कर भी हमें भेज सकते हैं। आप द्वारा भेजी कोई भी अह्म जानकारी को हम आपके नाम सहित www.jain24.com पर प्रकाशित करेंगे।
Email – jain24online@gmail.com,
Whatsapp – 07042084535