Jain Statue Recovered – उदयपुर से 500 साल पुरानी बेशकीमती 4 जैन प्रतिमाएं बरामद

Jain Statue Recovered in udaipur

Jain Statue Recovered in Udaipur – उदयपुर पुलिस को मिली सूचना के आधार पर पुरानी मूर्तियों को लाखों रुपये में बेचने की फिराक में घूम रहे दो संदिग्ध युवकों को गिरफ्तार कर लिया। इनके पास से 4 बेशकीमती अतिप्राचीन jain प्रतिमाएं बरामद की हैं। जिला पुलिस अधीक्षक राजेंद्र प्रसाद ने बताया कि सूचना मिलने के बाद यातायात निरीक्षक गोरधन सिंह एवं स्पेशल टास्क फोर्स टीम को निर्देश दिये गये एवं पुलिस अधीक्षक शहर हर्ष रत्नू के निर्देशन में वृत्ताधिकारी पूर्व भागवत सिंह हिंगड एवं वृत्ताधिकारी पश्चिम भंवर सिंह हाडा एवं हरेंद्र सिंह सौदा के नेतृत्व में एक टीम गठित की गई।

उक्त टीम बताये हुलिए एवं स्थान पर पहुंची तो पुलिस को आते देख मूर्ति बेचने आये संदिग्ध भागने लगे किंतु पुलिस की तत्परता से इन्हें पकड़ लिया गया। गिरफ्तार में एक रामनाथ 48 पिता भजालाल कालबेलिया निवासी देलवाड़ा राजसमदं तथा दूसरा महेंद्र 32 पिता वंशीलाल यादव निवासी देलवाड़ा राजसमंद के हैं। इनके पास से 4 बेशकीमती मूर्तियां बरामद की गई।

Jain Statue in Udaipur – Jain News

उक्त चारों मूर्तियों में पहली 650 ग्राम की भगवान आदिनाथ , दूसरी 1 किलो 600 ग्राम की भगवान शांतिनाथ की, तीसरी 3 किलो 400 ग्राम और चौधी 5 किलो 700 ग्राम की है, जिस पर संवत 1725 अंकित है तथा प्राचीनलिपि में कुछ लिखा हुआ है। उक्त सभी मूर्तियों की अंतरराष्ट्रीय बाजार में बेशकीमती बतायी जा रही हैं। बरामद मूर्तियों को पुरातत्व विभाग द्वारा नियमानुसार जांच कराई जाएगी। उक्त दोनों चोरों के खिलाफ अपराध दर्ज कर लिया गया है और पूछताछ की जा रही है। पुलिस टीम में हेड कांस्टेबल राजेश मेहता, कांस्टेबल योगेश कुमार, प्रहलाद पायीदार, अखिलेश्वर कुमार, गणेश सिंह, सलीम खां एवं यशपाल शामिल थे।

Comments

comments

अपने क्षेत्र में हो रही जैन धर्म की विभिन्न गतिविधियों सहित जैन धर्म के किसी भी कार्यक्रम, महोत्सव आदि का विस्तृत समाचार/सूचना हमें भेज सकते हैं ताकि आप द्वारा भेजी सूचना दुनिया भर में फैले जैन समुदाय के लोगों तक पहुंच सके। इसके अलावा जैन धर्म से संबंधित कोई लेख/कहानी/ कोई अदभुत जानकारी या जैन मंदिरों का विवरण एवं फोटो, किसी भी धार्मिक कार्यक्रम की video ( पूजा,सामूहिक आरती,पंचकल्याणक,मंदिर प्रतिष्ठा, गुरु वंदना,गुरु भक्ति,गुरु प्रवचन ) बना कर भी हमें भेज सकते हैं। आप द्वारा भेजी कोई भी अह्म जानकारी को हम आपके नाम सहित www.jain24.com पर प्रकाशित करेंगे।
Email – jain24online@gmail.com,
Whatsapp – 07042084535