अहिंसा व्रत व संयम की साधना का नाम वर्षायोग : आचार्य विनीत सागर

वर्षा ऋतु के चार माह में जब व्यापार धंधा भी कम हो जाता है एवं असंख्यात जीवों की पृथ्वी पर उत्पत्ति होती है तो अहिंसा व्रत के पालन हेतु जैन सन्त एक जगह चार माह रुक कर अपने संयम ,ध्यान की साधना करते हैं उसे वर्षाकाल अर्थात वर्षायोग कहते हैं स्व व पर के कल्याण के साथ ही धर्म रूपी वर्षा नगर में होती है उक्त उदगार 24 वे वर्षायोग मंगल कलश स्थापना समारोह में सोमवार को दिगम्बर जैनाचार्य विनीत सागर महाराज ने अपने प्रवचनों में जैन श्रावक श्राविकाओं से कहे।

कलश स्थापना से पूर्व सुमंगलम डेयरी लहसर पर रात्रि विश्राम कर पद विहार करते हुते प्रातः 7 बजे जैसे ही महावीर पार्क पर मंगल प्रवेश हुआ तो जैन समाज मे खुशियां छा गयी सम्पूर्ण जैन समाज ने आचार्य की पाद प्रक्षालन व आरती उतार कर भावभीनी आगवानी की ओर बेंडबाजो से कामां के बस स्टैंड ,नगर पालिका , मुख्य बाजार लाल दरवाजा होते हुए नगर प्रवेश कराया तो जैन श्रद्धालुओ ने अपने अपने प्रतिष्ठानो पर जैन आचार्य की पाद प्रक्षालन एवं आरती उतारी इस अवसर पर युवाओ ने जैन धर्म ,विनीत सागर एवं जैन साधु आये हैं ज्ञान की गंगा लाये हैं के नारों से वातावरण गुंजायमान कर दिया।

वर्षायोग कलश स्थापना का मुख्य कार्यक्रम का शुभारंभ अदिनाथ दिगम्बर जैन मंदिर प्रांगण में दोपहर एक बजे से प्रेमचंद संजय बोलखेड़िया द्वारा ध्वजारोहण कर किया गया तो चित्र अनावरण धर्मचन्द जैन , दीप प्रज्ज्वलन चन्द्र कुमार बड़जात्या परिवार द्वारा किया गया । कार्यक्रम में मनीषा सर्राफ, नीरू जैन द्वारा मंगलाचरण प्रस्तुत किया गया वही बच्चों ने सास्कृतिक प्रस्तुति भी दी । कार्यक्रम में मुख्य कलश स्थापना का सौभाग्य स्वरूपचंद विजय जैन परिवार को प्राप्त हुआ तो पाद प्रक्षालन शांतिस्वरूप दीपक जैन बोलखेड़ा , शास्त्र भेट सुमन जैन, शोभा जैन बड़जात्या परिवार को प्राप्त हुआ । कार्यक्रम में भारतीय जनता पार्टी की शहर कार्यकारणी ने अध्यक्ष निहाल मीणा के नेतृत्व में सासंद रंजीता कोली की तरफ से श्री फल अर्पित किया ।

कार्यक्रम का संचालन करते हुए युवा परीषद के जिला अध्यक्ष संजय जैन बड़जात्या ने युवाओ से अधिकाधिक सक्रीय रहकर वर्षायोग में पुण्यार्जन की अपील की गई तो जैन समाज अध्यक्ष महावीर प्रसाद जैन ,वर्षायोग समिति के अध्यक्ष पदम चन्द , संजय सर्राफ, देवेंद्र मुनीम ,कैलाश चन्द जैन व पदाधिकारीयों ने अथिति का माला दुपट्टा पहनाकर सम्मान किया । महिला मंडल , धर्म जाग्रति संस्थान ,युवा परीषद ,आराधना मण्डलं, धर्म शिक्षण पाठशाला के पदाधिकारियों ,डीग ,पहाड़ी,जुरहरा, देहली ,कोसीकलां ,बौलखेड़ा ,मुरादाबाद सहित अनेको स्थानों से सेकड़ो स्त्री पुरुष व बच्चों ने कार्यक्रम में भाग लिया ।

 

— संजय जैन बड़जात्या

Comments

comments

अपने क्षेत्र में हो रही जैन धर्म की विभिन्न गतिविधियों सहित जैन धर्म के किसी भी कार्यक्रम, महोत्सव आदि का विस्तृत समाचार/सूचना हमें भेज सकते हैं ताकि आप द्वारा भेजी सूचना दुनिया भर में फैले जैन समुदाय के लोगों तक पहुंच सके। इसके अलावा जैन धर्म से संबंधित कोई लेख/कहानी/ कोई अदभुत जानकारी या जैन मंदिरों का विवरण एवं फोटो, किसी भी धार्मिक कार्यक्रम की video ( पूजा,सामूहिक आरती,पंचकल्याणक,मंदिर प्रतिष्ठा, गुरु वंदना,गुरु भक्ति,गुरु प्रवचन ) बना कर भी हमें भेज सकते हैं। आप द्वारा भेजी कोई भी अह्म जानकारी को हम आपके नाम सहित www.jain24.com पर प्रकाशित करेंगे।
Email – jain24online@gmail.com,
Whatsapp – 07042084535