आचार्य श्री ज्ञानसागर महाराज की वाणी सुन कैदियों की आंखे हुई नम

टोंक। परम पूज्य आचार्य श्री ज्ञानसागर जी महराज का प्रातःकालीन बेला में अमीरगंज में भव्य आगवानी की गयीं। इसी कड़ी मे आचार्य श्री ने मध्यान बेला में टोंक जेल में कैदियो को सबोधित किया। यह आचार्य गुरुवर का 93 वा जेल प्रवचन था। आचार्य भगवन ने कैदियो को जो सबोधित किया तो सभी कैदियो की आंखे भर आयी और पश्याताप किया। आचार्य की वाणी ने उन्हे अंदर से झकझोर कर रख दिया। यह ऐसा क्षण था जो भी सुनता वह भी भावुक हो जाता। ऐसी कल्याणकारी वाणी सुन कैदियो ने प्रण लिया कि जेल से जाने के बाद हम अपराधो मे लिप्त नही होगे और इसके साथ मांसाहार का त्याग भी किया। सचमुच आचार्य भगवन ज्ञान के भंडार है धन्य है ऐसे सन्त

— अभिषेक जैन लुहाड़िया रामगंजमंडी

Comments

comments

अपने क्षेत्र में हो रही जैन धर्म की विभिन्न गतिविधियों सहित जैन धर्म के किसी भी कार्यक्रम, महोत्सव आदि का विस्तृत समाचार/सूचना हमें भेज सकते हैं ताकि आप द्वारा भेजी सूचना दुनिया भर में फैले जैन समुदाय के लोगों तक पहुंच सके। इसके अलावा जैन धर्म से संबंधित कोई लेख/कहानी/ कोई अदभुत जानकारी या जैन मंदिरों का विवरण एवं फोटो, किसी भी धार्मिक कार्यक्रम की video ( पूजा,सामूहिक आरती,पंचकल्याणक,मंदिर प्रतिष्ठा, गुरु वंदना,गुरु भक्ति,गुरु प्रवचन ) बना कर भी हमें भेज सकते हैं। आप द्वारा भेजी कोई भी अह्म जानकारी को हम आपके नाम सहित www.jain24.com पर प्रकाशित करेंगे।
Email – jain24online@gmail.com,
Whatsapp – 07042084535