भगवान बाहुबली की मूर्ति है जो कि सोनगढ़ में स्थापित होनी है

भगवान बाहुबली की मूर्ति है जो कि सोनगढ़ में स्थापित होनी है । इसकी लम्बाई है 41 फीट, उंचाई है 6.5 फीट चौड़ाई है 14 फीट । गोमटेश्वर बाहुबली की मूर्ति के बाद सबसे बड़ी । योजना 51 फीट की थी लेकिन इतनी बड़ी मूर्ति का transportation संभव नहीं था ।
मूर्ति ग्रेनाइट की है और उसी पत्थर की है जिस पत्थर के गोमटेश्वर बाहुबली है । दो साल तक इस पत्थर की खोज की गई जो अंततःकर्णाटक के कोइरा नामक स्थान पर मिला । National award winner architect अशोक गुडिगर की 10 लोगों की टीम ने 15 महीनों की मेहनत से इसे बनाया व 1 करोड़ रु. अशोक गुडिगर को बतौर पारिश्रमिक के दिए ।
400 टन की इस मूर्ति को सोनगढ़ लाने के लिए 150 पहियों का special Volvo trailer बनवाया गया । भारत सरकार की विशेष अनुमति से एक दिन में 20 किलो मीटर का सफ़र कर 45 दिन में यह सोनगढ़ पहुंची । रास्ते में जहाँ जहाँ से भी यह गुजरी लाखों लोगों ने इसका स्वागत किया । craftsmanship व वीतरागता का बेहतरीन नमूना है यह मूर्ति । कोई 1000 वर्ष बाद भारत में गुरुदेव कहांन के भक्तो ने इतनी विशाल मूर्ति का निर्माण कराया है ।
एक ऊँची पहाड़ी पर स्थापित होने के बाद 15 किलो मीटर दूर पालीताना तक से यह दिखाई देगी ।

Comments

comments

अपने क्षेत्र में हो रही जैन धर्म की विभिन्न गतिविधियों सहित जैन धर्म के किसी भी कार्यक्रम, महोत्सव आदि का विस्तृत समाचार/सूचना हमें भेज सकते हैं ताकि आप द्वारा भेजी सूचना दुनिया भर में फैले जैन समुदाय के लोगों तक पहुंच सके। इसके अलावा जैन धर्म से संबंधित कोई लेख/कहानी/ कोई अदभुत जानकारी या जैन मंदिरों का विवरण एवं फोटो, किसी भी धार्मिक कार्यक्रम की video ( पूजा,सामूहिक आरती,पंचकल्याणक,मंदिर प्रतिष्ठा, गुरु वंदना,गुरु भक्ति,गुरु प्रवचन ) बना कर भी हमें भेज सकते हैं। आप द्वारा भेजी कोई भी अह्म जानकारी को हम आपके नाम सहित www.jain24.com पर प्रकाशित करेंगे।
Email – jain24online@gmail.com,
Whatsapp – 07042084535