सूरत में हीरा व्यापारी की 13 वर्षीय बेटी वैश्वी ने सब कुछ ठुकरा कर, ली दीक्षा

गुजरात। हीरा व्यापारी की 13 वर्ष की बेटी वैी  मेहता भौतिकतावादी आलीशान जिंदगी को सदा-सदा के लिए त्याग दीक्षा ग्रहण करने जा रही है। शनिवार के दिन दीक्षा ग्रहण से पहले वैश्वी की विशाल शोभायात्रा निकाली गई। गुजरात के हीरा व्यापारी हितेश मेहता और पीलाबेन मेहता की सबसे छोटी बेटी वैश्वी बहुत ही लाड़-प्यार से पली-बढ़ी है। जानकारी के मुताबिक वैश्वी जब 10 वर्ष की थी तो वह गुरु के साथ ही चली गई थी। वहां रहते हुए उसका धीरे धीरे हृदय परिवतर्न हुआ और उसे जब संज्ञान हुआ कि ये भौतिकतावादी चकाचौंध भरी जिंदगी, मोह-माया, रुपया-पैसा, चमक-दमक सब कुछ चलायमान और नर है, इस सबको ठुकराकर, वह परम शांति और सदा-सदा के लिए आत्मा में लीन होने शांति की खोज की राह पर जाने का फैसला कर लिया। अपनी बेटी वैश्वी के इस फैसले से उनके पिता और मां खुश हैं और उसे उसकी इजाजत दे दी गई है।

Comments

comments

अपने क्षेत्र में हो रही जैन धर्म की विभिन्न गतिविधियों सहित जैन धर्म के किसी भी कार्यक्रम, महोत्सव आदि का विस्तृत समाचार/सूचना हमें भेज सकते हैं ताकि आप द्वारा भेजी सूचना दुनिया भर में फैले जैन समुदाय के लोगों तक पहुंच सके। इसके अलावा जैन धर्म से संबंधित कोई लेख/कहानी/ कोई अदभुत जानकारी या जैन मंदिरों का विवरण एवं फोटो, किसी भी धार्मिक कार्यक्रम की video ( पूजा,सामूहिक आरती,पंचकल्याणक,मंदिर प्रतिष्ठा, गुरु वंदना,गुरु भक्ति,गुरु प्रवचन ) बना कर भी हमें भेज सकते हैं। आप द्वारा भेजी कोई भी अह्म जानकारी को हम आपके नाम सहित www.jain24.com पर प्रकाशित करेंगे।
Email – jain24online@gmail.com,
Whatsapp – 07042084535