विपदा में भारतीय कंपनियों ने करोड़ो की मदद की, ऑनलाइन कमाने वालो ने धेला भी नही दिया: मुनि प्रमाण सागर जी

सागर। विपदा की इस घड़ी में भारतीय कंपनियों ने हज़ारो करोड़ो रुपया सरकार को आर्थिक मदद के रूप मे देने की घोषणा की है। जबकि उन विदेशी कंपनियों ने एक भी धेला अभी तक सरकार को नही दिया है जो हमसे लाखो करोड़ों अरबो रुपया कमा रही है वह भी ऑनलाइन  युवा पीढ़ी को ऑनलाइन पर भरोसा कम करना  चाहिए। मुनि श्री प्रमाण सागर जी महाराज ने यह बात शंका समाधान के लाइव ऑनलाइन प्रश्नों के जवाब में कही। मुनि श्री ने कहा आप लोग भारतीयता का ध्यान रखे तो सच्चे देश भक्त कहलाओगे। अच्छी वस्तु को भीतर मे प्रक्रिया कोनसी है? मुनि श्री ने कहा मनुष्य की पहचान आकृति से नही उसके भीतर गुणों से होती है जैसे   देशी ओर विदेशी सेव होता है। विदेशी सेव चमकदार होता है लेकिन उसका स्वाद अलग होता है। लेकिन देशी सेव देखने मे जरूर थोड़ा कम सुदर होता है लेकिन वह स्वाद और गुणों वाला होता है। अपनो पर विश्वास करना चाहिए।

कोरोना का भूत उतारिए कुछ सकारात्मक करिए

मुनि श्री ने कहा अपनी सोच से अपना जीवन बनाए। विश्व को इस समय बहुत बड़ी त्रासदी से गुजर रहा है आप लोग मन से कोरोना का भूत उतार दीजिए और उतारने की जरूरत है क्योकि दिन भर टीवी और सोशल मीडिया पर जो संदर्भित खबरें आ रही है उससे नकारात्मकता बढ़ रही है। उन्होंने कहा इस तरह की बाते मस्तिष्क में रखने का कोई औचित्य नही है हम 100 फीसदी तक सेफ जोन मे है और शान्ति जाप के द्वारा आसपास ऐसा सुरक्षा घेरा बना हुआ है जो इस वायरस से हमे मुक्ति दिला रहा है। इसका भय नही होना चाहिए। आप लोग समय का सदुपयोग करिए सब अच्छा होगा सब मंगल होगा।

ठोकर खाकर इंसान संभलता है इससे डरिये नही

एक प्रश्न के उत्तर मे मुनि श्री ने कहा ठोकर खाने से इंसान टूटता भी होता है और मजबूत भी होता है। ठोकर खाकर सीख लेना अत्यंत जरूरी है। ठोकर खाते समय घबराना नही चाहिए तभी जीवन मे कुछ कर पाएगे। उन्होंने कहा कभी किसी को ठुकराना मत क्योकि वह ठोकर खाकर सुधर जाएगा। एक दूसरे के काम आना मानवीय काम है आपके द्वारा इस विषम परिस्तिथी मे जो गरीबो को भोजन आदि कार्य किया जा रहा है वह सुरक्षित दूरी पर रहकर ही करे तो अच्छा रहेगा क्योंकि कोरोना1 छुआछूत की बीमारी है। सत्य का आनंद वही ले पाता है जो असत्य को अपने से दूर कर लेता है। मुनि श्री ने एक प्रश्न के उत्तर में कहा जापान के ऊपर जब अमेरिका ने हिरोशिमा मे परमाणु बम फेंका उसके बाद जापान ने अमेरिका से कभी व्यापारिक रिश्ते नही रखे इसी प्रकार कोरोना वायरस को लेकर के लोग कह रहे है चाईना ने विश्व गुरु बनने के लिए  इस प्रकार के वायरस को पूरी दुनिया मे फैलाकर लोगो को परेशानी में डाल दिया है भारत भी इससे परेशान है इसको लेकर भारत को चाईना से अपनै व्यापारिक सबंधो पर गभीरता से विचार करना चाहिए। भारत फ़िर सोने की चिडीया बन जाएगा।

ऑनलाइन खरीदी मे सस्ता पाने के चक्कर मे देश को कमज़ोर किया जा रहा है

ऑनलाइन खरीदी के सन्दर्भ में महाराज श्री ने कहा इस समय 34 फीसदी व्यापार ऑनलाइन चल रहा है। यह एक विकराल रूप धारण कर रहा है एक चैन बन गई है सस्ता पाने की लोगो में एक प्रकार से देश को कमजोर करने का षडयंत्र है। कुछ लोगो के व्यापार खत्म हो गए है। लोगो को इसको गभीरता से विचार करना चाहिए। आपके सहयोग से एक व्यक्ति का परिवार चलता है तो इसमे बुरा क्या है हमे भी जागना चाहिए।

 

— अभिषेक जैन लुहाड़िया रामगंजमण्डी

Comments

comments

अपने क्षेत्र में हो रही जैन धर्म की विभिन्न गतिविधियों सहित जैन धर्म के किसी भी कार्यक्रम, महोत्सव आदि का विस्तृत समाचार/सूचना हमें भेज सकते हैं ताकि आप द्वारा भेजी सूचना दुनिया भर में फैले जैन समुदाय के लोगों तक पहुंच सके। इसके अलावा जैन धर्म से संबंधित कोई लेख/कहानी/ कोई अदभुत जानकारी या जैन मंदिरों का विवरण एवं फोटो, किसी भी धार्मिक कार्यक्रम की video ( पूजा,सामूहिक आरती,पंचकल्याणक,मंदिर प्रतिष्ठा, गुरु वंदना,गुरु भक्ति,गुरु प्रवचन ) बना कर भी हमें भेज सकते हैं। आप द्वारा भेजी कोई भी अह्म जानकारी को हम आपके नाम सहित www.jain24.com पर प्रकाशित करेंगे।
Email – jain24online@gmail.com,
Whatsapp – 07042084535