तीर्थंकर मल्लिनाथ भगवान का जन्म, तप कल्याणक भक्ति भाव के साथ मनाया।

श्री दिगंबर जैन समाज के नेतृत्व में दिगंबर जैन दोनों मंदिरों में जैन धर्म के 19 वे तीर्थंकर देवाधिदेव 1008 श्री मल्लिनाथ भगवान का जन्म, तप कल्याणक भक्ति भाव के साथ मनाया गया। जिसमें प्रातः 6:00 जैन बड़ा मंदिर जी में 1008 श्री मल्लिनाथ नाथ भगवान की अष्टधातु की प्रतिमा पर समाज के द्वारा मस्तिकाभिषेक किया गया एवं शांति धारा का सौभाग्य संदीप अंजना सेठी,ओर नए मंदिर जी मे मनीष सीमा सेठी के परिवार को प्राप्त हुआ।

ज्ञात हो कि आज से कई हजार वर्ष बिहार के मिथिलापुर में मल्लिनाथ भगवान का जन्म हुआ था। तभी से पूरे भारत में मगशिर शुक्ला एकादशी को जन्म कल्याणक मनाया जा रहा है। साथ ही 1008 श्री नमीनाथ भगवान का ज्ञान कल्याणक भी मनाया गया। इस अवसर पर समाज के द्वारा श्री जी के श्री चरणों में जन्म तप एवम ज्ञान कल्याणक का श्रीफल समर्पित किया गया, समाज के पदाधिकारी कमल सेठी सुरेंद्र काला मनोज गंगवाल कमल सेठी संजय गंगवाल, बॉर्बी कैलाश जी जोशीला आदि सैकड़ों लोग उपस्थित थे, शाम को दोनो मंदिरों में भब्य आरती की गई,उक्त जानकारी मीडिया प्रभारी राज कुमार अजमेरा एवम नवीन गंगवाल ने दी।

Comments

comments

अपने क्षेत्र में हो रही जैन धर्म की विभिन्न गतिविधियों सहित जैन धर्म के किसी भी कार्यक्रम, महोत्सव आदि का विस्तृत समाचार/सूचना हमें भेज सकते हैं ताकि आप द्वारा भेजी सूचना दुनिया भर में फैले जैन समुदाय के लोगों तक पहुंच सके। इसके अलावा जैन धर्म से संबंधित कोई लेख/कहानी/ कोई अदभुत जानकारी या जैन मंदिरों का विवरण एवं फोटो, किसी भी धार्मिक कार्यक्रम की video ( पूजा,सामूहिक आरती,पंचकल्याणक,मंदिर प्रतिष्ठा, गुरु वंदना,गुरु भक्ति,गुरु प्रवचन ) बना कर भी हमें भेज सकते हैं। आप द्वारा भेजी कोई भी अह्म जानकारी को हम आपके नाम सहित www.jain24.com पर प्रकाशित करेंगे।
Email – jain24online@gmail.com,
Whatsapp – 07042084535