गुजरात में जैन समुदाय को अल्पसंख्यक का दर्जा मिला।

अहमदाबाद ,  गुजरात सरकार ने शनिवार सरकारी प्रस्ताव जारी कर जैन समुदाय को अल्पसंख्यक होने का दर्जा दे दिया है। राज्य के परिवहन मंत्री एवं बीजेपी प्रदेश इकाई प्रमुख विजय रूपानी ने अहमदाबाद में यह घोषणा की। केंद्र की पूर्ववर्ती यूपीए सरकार ने जनवरी, 2014 में जैन समुदाय को राष्ट्रीय स्तर पर अल्पसंख्यक होने का दर्जा प्रदान किया था। रूपानी ने महा कि मुख्यमंत्री आनंदीबेन पटेल ने शनिवार जैन समुदाय को अल्पसंख्यक होने का दर्ज प्रदान करने का निर्णय लिया। रूपानी ने बताया कि उक्त निर्णय काफी समय से लंबित था क्योंकि जैन समुदाय का एक बड़ा हिस्सा महसूस कर रहा था कि समुदाय के कई रीति-रिवाज हिंदुओं जैसे हैं। इसलिए जैन हिंदू समुदाय का हिस्सा हैं और उनके अलग व्यवहार नहीं होना चाहिए। उन्होंने कहा कि निर्णय का आरक्षण से कोई लेना-देना नहीं है। दज्रे से जैन समुदाय में गरीबों को लाभ होगा क्योंकि वे विभिन्न छात्रवृत्ति सरकारी कल्याण योजनाओं से लाभ उठा सकते हैं। जैन संस्थानों को विशेष संस्थान होने कर दर्जा मिल जाएगा, जैसे ईसाई और मुस्लिम संस्थानों को मिलता है।

Comments

comments