मोदी ने जैन महोत्सव में सद्भाव की कामना की

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को जैन धर्म के अनुयायियों को पर्यूषण पर्व के अंतिम दिन पर शुभकामनाएं दी। यह जैन धर्म का मुख्य पर्व है और एकता तथा सद्भाव का संदेश देता है। मोदी ने ट्वीट कर कहा, “मिच्चामई दुक्कादम। आशा है कि क्षमा और करुणा की भावना हमारे समाज में एकता तथा सद्भाव की भावना को बढ़ाए।”

पर्यूषण पर्व सात दिनों तक मनाया जाता है और इसका समापन संवत्सरी पर्व पर होता है। मिच्चामई दुक्कादम प्राकृत भाषा का एक प्राचीन मुहावरा है, जिसे किसी दुर्भावना या बुरे कर्म की माफी मांगने के लिए इस्तेमाल किया जाता है।

Comments

comments

अपने क्षेत्र में हो रही जैन धर्म की विभिन्न गतिविधियों सहित जैन धर्म के किसी भी कार्यक्रम, महोत्सव आदि का विस्तृत समाचार/सूचना हमें भेज सकते हैं ताकि आप द्वारा भेजी सूचना दुनिया भर में फैले जैन समुदाय के लोगों तक पहुंच सके। इसके अलावा जैन धर्म से संबंधित कोई लेख/कहानी/ कोई अदभुत जानकारी या जैन मंदिरों का विवरण एवं फोटो, किसी भी धार्मिक कार्यक्रम की video ( पूजा,सामूहिक आरती,पंचकल्याणक,मंदिर प्रतिष्ठा, गुरु वंदना,गुरु भक्ति,गुरु प्रवचन ) बना कर भी हमें भेज सकते हैं। आप द्वारा भेजी कोई भी अह्म जानकारी को हम आपके नाम सहित www.jain24.com पर प्रकाशित करेंगे।
Email – jain24online@gmail.com,
Whatsapp – 07042084535