योग से होता है जीवन का कायाकल्प – मुनि श्री विशोक सागर जी

खनियाधाना । रविवार की सुबह को परम पूज्य मुनि श्री  विशोक सागर जी महाराज एंव परम पूज्य मुनि श्री विदेह सागर जी महाराज जी ने सुबह मुक्ति धाम मे योग साधना करते व कराते हुये कहा है कि योग कोई पंथ, परम्परा या धर्म नहीं, विशुद्ध रूप से जीवन जीने की कला है। योग तन को स्वस्थ करता है और मन को तंदुरुस्त। उत्साहपूर्ण एवं ऊर्जावान जीवन जीने के लिए योग बेहतरीन पद्धति है।

मुनि श्री विशोक सागर जी ने कहा कि जीवन के चार आधार हैं-शरीर, विचार, मन और भाव। ये चारों स्वस्थ हैं तो जीवन स्वस्थ है और इनमें से किसी में भी गड़बड़ी है तो व्यक्ति बीमार पड़ जाता है। योग से शरीर स्वस्थ, विचार सकारात्मक, मन शांत और भाव शुद्ध रहते हैं। अगर व्यक्ति २४ घण्टों में से एक घण्टा प्रतिदिन २० मिनिट योगासन, १० मिनिट प्राणायाम और ३० मिनिट ध्यान करे तो इससे न केवल उसका कायाकल्प होगा वरन् वह स्वस्थ, सुखी और मधुर जीवन का मालिक भी बन जाएगा।

मुनिश्री ने कहा कि शरीर को सदाबहार स्वस्थ रखना है तो सात्त्विक एवं संतुलित आहार लें, प्रतिदिन योगासन एवं प्राणायाम करें, समय पर शौच से निवृत होवें और हमेशा स्नान करें। विचारों को बेहतरीन बनाने के लिए अच्छी किताबें पढ़ें, अच्छी बातें सुनें और अच्छे लोगों के साथ रहें। मन को निर्मल और ऊर्जावान बनाने के लिए प्रभु-प्रार्थना एवं ध्यान करें और भावों को सुंदर बनाने के लिए सबके प्रति मंगल-मैत्री भाव और परोपकार की भावना रखें। इससे व्यक्ति ८० प्रतिशत रोगों का ईलाज करने वाला चिकित्सक तो खुद बन जाएगा।

मुनि श्री विशोक सागर जी ने सभी श्रद्धालुओं को योगसन के विभिन्न प्रयोग करवाए। उन्होंने कहा कि अगर आपके पास मात्र तीन मिनिट है तो एक-एक मिनिट केघर्षण योग, ताल वादन योग और हास्य योग के प्रयोगों से तन-मन को स्वस्थ और सकारात्मक बनाया जा सकता है। ब्लडप्रेशर नियंत्रण, बौद्धिक विकास, डासबिटिज, मोटापा व ऊर्जा जागरण के लिए विभिन्न योगसन का प्रयोग करवाया गया |

स्वप्निल जैन (लकी) खनियॉधाना जिला शिवपुरी

Comments

comments

अपने क्षेत्र में हो रही जैन धर्म की विभिन्न गतिविधियों सहित जैन धर्म के किसी भी कार्यक्रम, महोत्सव आदि का विस्तृत समाचार/सूचना हमें भेज सकते हैं ताकि आप द्वारा भेजी सूचना दुनिया भर में फैले जैन समुदाय के लोगों तक पहुंच सके। इसके अलावा जैन धर्म से संबंधित कोई लेख/कहानी/ कोई अदभुत जानकारी या जैन मंदिरों का विवरण एवं फोटो, किसी भी धार्मिक कार्यक्रम की video ( पूजा,सामूहिक आरती,पंचकल्याणक,मंदिर प्रतिष्ठा, गुरु वंदना,गुरु भक्ति,गुरु प्रवचन ) बना कर भी हमें भेज सकते हैं। आप द्वारा भेजी कोई भी अह्म जानकारी को हम आपके नाम सहित www.jain24.com पर प्रकाशित करेंगे।
Email – jain24online@gmail.com,
Whatsapp – 07042084535