धर्म ही है मानसिक प्रदूषण को दूर करने का साधन : सौरभ सागर

गन्नौर नगर में जैन मुनि सौरभ सागर जी का मंगल प्रवेश बड़ी धूमधाम के साथ सोमवार को हुआ। गन्नौर पहुंचने पर श्रावकों ने मुनिश्री का भव्य स्वागत किया। जैन गली स्थित श्री दिगम्बर जैन मंदिर धर्मशाला में एक विशाल धर्मसभा को संबोधित करते हुए मुनिश्री ने कहा कि अभी जो आप प्रदूषण देख रहे हैं, यह बाहरी है। यह प्रदूषण तन को नुकसान पहुंचाता है किंतु मानसिक प्रदूषण तो वर्तमान और भविष्य दोनों को बर्बाद कर देता है।

मानसिक प्रदूषण को दूर करने के लिए धर्म ही एक मात्र साधन है। प्रधान आनंद जैन ने कहा कि यह सौभाग्यशाली क्षण है कि हम संतों के शात सत्य के संदेश को सुनकर मलिन आत्मा को पावन कर रहे हैं। संत हमें धर्म के मार्ग पर चलने का संदेश दे रहे हैं। इसको जीवन में आत्मसात करना है ताकि सामाजिक कुरीतियां दूर हों और आपसी भाईचारा बढ़े। धर्मसमा में उपस्थित श्रद्धालुओं सहित दिल्ली से आये अनिल जैन, बबीता जैन, त्रिशला जैन, सचिन जैन, मनीषा जैन आदि ने भी मुनिश्री से आशीर्वाद प्राप्त किया।

Comments

comments

अपने क्षेत्र में हो रही जैन धर्म की विभिन्न गतिविधियों सहित जैन धर्म के किसी भी कार्यक्रम, महोत्सव आदि का विस्तृत समाचार/सूचना हमें भेज सकते हैं ताकि आप द्वारा भेजी सूचना दुनिया भर में फैले जैन समुदाय के लोगों तक पहुंच सके। इसके अलावा जैन धर्म से संबंधित कोई लेख/कहानी/ कोई अदभुत जानकारी या जैन मंदिरों का विवरण एवं फोटो, किसी भी धार्मिक कार्यक्रम की video ( पूजा,सामूहिक आरती,पंचकल्याणक,मंदिर प्रतिष्ठा, गुरु वंदना,गुरु भक्ति,गुरु प्रवचन ) बना कर भी हमें भेज सकते हैं। आप द्वारा भेजी कोई भी अह्म जानकारी को हम आपके नाम सहित www.jain24.com पर प्रकाशित करेंगे।
Email – jain24online@gmail.com,
Whatsapp – 07042084535