युवा पीढ़ी को डिप्रेशन और अनिद्रा से बचाएं : आचार्य ज्ञानसागर

प्रशिक्षक विद्वान आचार्य श्री के साथ ग्रुप फोटो में।

ललितपुर। परम पूज्य संत शिरोमणि आचार्य श्री 108 विद्यासागर जी महाराज के संयम स्वर्ण महोत्सव वर्ष के उपलक्ष्य में  परम पूज्य सराकोद्धारक आचार्य श्री 108 ज्ञानसागर जी महाराज की प्रेरणा एवं आशीर्वाद से श्रुत संवर्धन संस्थान, मेरठ के तत्वावधान में श्रुत संवर्धन ज्ञान संस्कार शिक्षण शिविरों का आयोजन बुंदेलखंड के टीकमगढ़- झांसी-ललितपुर के विभिन्न अंचलों में 4 से 13 जून 2018 तक  बड़े ही उत्साह से आयोजित हुए, सभी शिविरों का सामूहिक समापन समारोह श्री दिगम्बर जैन अतिशय क्षेत्र करगुवां जी झाँसी में   उत्साह  पूर्वक आयोजित किया गया। समारोह के मुख्य अतिथि पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रदीप जैन आदित्य तथा विशिष्ट अतिथि उत्तर प्रदेश सरकार के राज्य मंत्री हरगोविंद कुशवाहा उपस्थित रहे।सर्व प्रथम मंचासीन अतिथियों ने चित्र अनावरण और दीप प्रज्वलित किया। मंगलाचरण करगुवां जी के शिविरार्थियों ने संगीतमयी नृत्य के साथ किया।

इन शिविरों में  ज्ञान दर्पण भाग 1, 2 छहडाला, भक्तामर स्त्रोत, तत्वार्थ सूत्र,  द्रव्य संग्रह आदि में प्रथम, द्वितीय, तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले तीनों जिलों के 210 मेधावियों को पुरस्कृत किया गया।

ललितपुर जनपद के निम्न मेधावियों को पुरस्कृत किया गया –

अटा मन्दिर, ललितपुर में आयोजित शिविर के प्रथम, द्वितीय, तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले-

छहढाला में सरोज जैन w/oहरिश चन्द्र जैन.अलका जैनw/oप्रमोद जैन, विजया जैनw/oजिनेन्द्र कुमार जैन, भक्तामर में वैशाली जैनd/oशीलचन्द्र जैन.अंशिता जैनd/oराजकुमार जैन,सुषमा जैनw/oसंतोष जैन,तत्त्वार्थ सूत्र मेंअंशिता जैनd/oराजकुमार जैन.उमा जैनw/oधन्य कुमार जैन.वैशाली जैन d/oशीलचन्द्र जैन,ज्ञान दर्पण भाग -1में सिद्धि जैन d/oसंतोष जैन,संयम जैनs/oमुकेश जैन,आयुष जैन s/oराजेश जैन, ज्ञान दर्पण-1मौखिक में जैनम जैनd/oशैलेन्द्र जैन,देवर्ष जैनs/oअनुराग जैन.कृतिका जैनd/oसन्मति जैन, ज्ञान दर्पण भाग-2 में शैलेश जैनs/oजिनेन्द्र जैन,सुरभि जैनd/oजिनेन्द्र जैन, स्वाति जैन d/oजिनेन्द्र,द्रव्य संग्रह में वैशाली जैन d/oशीलचन्द्र जैन, गुणमाला जैनw/oसंतोष जैन, नीमा जैन w/oप्रसन्न कुमार जैन को पुरस्कृत किया गया।

नई बस्ती ललितपुर के निम्न मेधावियों को पुरस्कृत किया गया-

ज्ञान दर्पण भाग एक में सम्यक जैन, नमी जैन, तान्या जैन, भाग दो में सचि जैन, सेजल जैन, सुप्रिया जैन, छहढाला में मीना जैन, कल्पना जैन, सुनन्दा जैन, तत्त्वार्थसूत्र में महेश जैन, मंजू जैन, कस्तूरी देवी जैन पुरस्कृत किये गए।

जखौरा में आयोजित शिविर के निम्न मेधावियों को झाँसी में पुरस्कृत किया गया-

ज्ञान दर्पण भाग -2 यश जैन पिता श्री विमलेश जैन,तनिष जैन पिता श्री संजय जैन,वीर भद्र जैन पिता श्री पदमचंद जैन, भक्तामर उच्चारण में दिशा जैन पिता श्री सबोध जैन,आयुष जैन पिता श्री मुकेश जैन,अवनि जैन पिता श्री अभय जैन,ज्ञान दर्पण भाग -1 में देशना जैन पिता श्री स्व. संजय जैन,गौरी जैन पिता श्री सतीश जैन, सम्मेद जैन पिता श्री सौरभ जैन, छहढाला में श्रीमति रीता जैन पति श्री सुलभ जैन, श्रीमति रंजना जैन पति श्री राजेश जैन,

कु. रितिका जैन पिता श्री प्रदीप जैन को पुरस्कार दिए गए।

तालबेहट के निम्न मेधावी पुरस्कृत हुए – भाग एक निष्ठा जैन, अरिहंत जैन, अनुष्का जैन, भाग दो में पलक जैन, माही जैन, नित्या जैन,

छहढाला में निर्मला जैन, सनत जैन, पूनम जैन, तत्त्वार्थसूत्र में अंगूरी जैन, अरुणा जैन, निर्मला जैन पुरस्कृत हुए।

विद्वान और संयोजक सम्मानित

इस अवसर पर इन शिविरों में प्रशिक्षण देने वाले श्रमण संस्कृति संस्थान सांगानेर जयपुर से आये विद्वानों को सम्मानित किया गया, जिनमें नईबस्ती में अध्यापन कराने वाले शुभम शास्त्री, अनीश शास्त्री, अटा जैन मंदिर में अध्यापन कराने वाले पंडित ज्ञानचंद्र जैन, राजेन्द्र शास्त्री, राहुल शास्त्री इसी प्रकार जखौरा में पंडित भुवनेश जैन, पंडित राहुल जैन, तालबेहट में अध्यापन कराने वाले पीयूष जैन शास्त्री, अभिषेक शास्त्री बालाघाट को सम्मानित किया गया। श्रीमती वीणा जैन, सचिन जैन शास्त्री, अक्षय अलया, गौतम मोदी आदि स्थानीय संयोजकों भी सम्मानित किया गया। शिविर समिति के सह निर्देशक  नगर के डॉ सुनील संचय  को भी पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रदीप जैन आदित्य ने सम्मानित किया।

इस अवसर पर झाँसी करगुवां जी मे आयोजित उक्त समारोह में जैन पंचायत ललितपुर के अध्यक्ष अनिल जैनअंचल, क्षेत्रपाल जैन मंदिर के प्रबंधक राजेन्द्र जैन लल्लू थनवारा, संजीव जैन ममता स्पोर्ट्स, जिनेंद्र जैन डिस्को, राहुल जैन कलरैया, श्रीमती वीणा जैन, चक्रेश जैन तालबेहट,सचिन जैन, सीमा जैन आदि अनेक गणमान्य लोग उपस्थित रहे। ललितपुर से एक स्पेशल बस से शिविरार्थि  समारोह में शामिल हुए।

समारोह के अतिथि जैन पंचायत के अध्यक्ष अनिल अंचल ने समारोह में अपने उदगार रखते हुए कहा कि ऐसे ज्ञान संस्कार शिविरों की आज महती आवश्यकता है। आचार्य श्री ज्ञानसागर जी के महनीय अवदान पर भी उन्होंने प्रकाश डालते हुए ललितपुर जैन पंचायत की ओर से शिविर समिति का आभार व्यक्त किया।

इस अवसर पर राष्ट्र संत आचार्य श्री ज्ञानसागर जी महाराज ने अपने मङ्गल उदबोधन में कहा कि सभी उत्तम जीवन शैली अपनाने का संकल्प लें। प्रतिदिन मंदिर जाकर भगवान के दर्शन करें। टीवी देखते हुए भोजन न करें। फास्ट फूड खाने से बचें। अपने माता पिता की आज्ञा का पालन करते हुए देश व समाज के हित में कार्य करने के लिए संकल्पित हों। उन्होंने कहा कि भौतिक सुविधाओं को जुटा लेने और अच्छे स्कूलों में एडवीशन लेने के बाद भी 40प्रतिशत बच्चों में डिप्रेशन और नींद न आने की शिकायत हो रही है। यह युवा पीढ़ी के लिए घातक है। अतः जरूरी है कि भारतीय संस्कृति के अनुरूप जीवन जिया जाय। मोबाइल, इंटरनेट की लत ने युवा पीढ़ी को बहुत हानि पहुचाई है। देर रात्रि तक मोबाइल का उपयोग स्वास्थ्य और मस्तिष्क के लिये हानिकारक है। अभिभावकों से मेरा कहना है कि युवा पीढ़ी को इससे बचाएँ।

राज्यमंत्री हरगोविंद जी कुशवाहा ने कहा कि परिवाररुपी पाठशाला मे बच्चा अच्छे और बुरे का अन्तर समझाने का प्रयास करता है. जब इस पाठशाला के अध्यापक अर्थात माता-पिता, दादा-दादी संस्कारी होंगे, तभी बच्चों के लिए आदर्श उपस्थित कर सकते है।

आभार महामंत्री प्रवीण जैन दैनिक विश्वपरिवार ने व्यक्त किया।समारोह का संचालन शिविर समिति के सह निर्देशक डॉ. सुनील संचय ललितपुर ने किया।

पूर्वकेन्द्रीय मंत्री प्रदीप जैन आदित्य ने कहा कि पाश्चात्य संस्कृति से लुप्त होते नैतिक संस्कार, विलुप्त होते आदर्शों को पुनः जीवित करने के लिए इन शिक्षण शिविरों का आयोजन होता आ रहा है । इससे नैतिकता का विकास होगा। आचार्य श्री ज्ञानसागर जी का इस दिशा में यह कार्य स्तुत्य है।

आयोजन को सफल बनाने में ब्र अनिता दीदी, ब्र मंजुला दीदी मुख्य संयोजक जयकुमारजी निशान्त भैया, सह निर्देशक डॉ निर्मल जैन शास्त्री टीकमगढ़, संयोजक मनीष शास्त्री शाहगढ़,चेतन शास्त्री बंडा, सुनील प्रसन्न शास्त्री हटा, राजेश शास्त्री सेसई आदि का अवदान उल्लेखनीय रहा।

ललितपुर में आयोजित शिविर में अनिल अंचल, डॉ अक्षय टडैया, नई बस्ती के मंदिर प्रबंधक जितेंद्र जैन राजू, शुभेन्दू जैन, अटा मंदिर के प्रबंधक भगवानदास जैन कैलगुवा, कपूरचंद जैन लागौन , अक्षय अलया, सतेंद्र जैन गदयाना, वीणा जैन, पंडित आलोक मोदी, सचिन शास्त्री, संजीव ममता, जिनेंद्र जैन, गेंदालाल सतभैया आदि का उल्लेखनीय योगदान रहा।

 

डॉ. सुनील जैन संचय

Comments

comments

अपने क्षेत्र में हो रही जैन धर्म की विभिन्न गतिविधियों सहित जैन धर्म के किसी भी कार्यक्रम, महोत्सव आदि का विस्तृत समाचार/सूचना हमें भेज सकते हैं ताकि आप द्वारा भेजी सूचना दुनिया भर में फैले जैन समुदाय के लोगों तक पहुंच सके। इसके अलावा जैन धर्म से संबंधित कोई लेख/कहानी/ कोई अदभुत जानकारी या जैन मंदिरों का विवरण एवं फोटो, किसी भी धार्मिक कार्यक्रम की video ( पूजा,सामूहिक आरती,पंचकल्याणक,मंदिर प्रतिष्ठा, गुरु वंदना,गुरु भक्ति,गुरु प्रवचन ) बना कर भी हमें भेज सकते हैं। आप द्वारा भेजी कोई भी अह्म जानकारी को हम आपके नाम सहित www.jain24.com पर प्रकाशित करेंगे।
Email – jain24online@gmail.com,
Whatsapp – 07042084535