सिद्धचक्र महामंडल विधान में सिद्धों का गुणानुवाद कर 32 अर्घ समर्पित किये गये

मैनपुरी जिले के कुरावली तहलीस के जीटी रोड स्थित जैन भवन में आठदिवसीय महामंडल विधान का आयोजन किया जा रहा है। महामंडल विधान के तीसरे दिन सिद्धों की पूजा-अर्चना पूरी भक्ति भाव के साथ की गई साथ ही बत्तीस अर्ध समर्पित किये गये, जिसमें समाज के लोगों ने बोलियों के तौर पर दान देकर सबसे पहले अर्घ समर्पित करने की होड़ लगी रही। सांगेनोर से पधारे शास्त्री संजय जी के तत्वाधान में सभी भक्तगणों ने पूरी भक्ति भावना के साथ श्रीजी का गुणानुवाद किया।

जयपुर से पधारी नवीन जैन म्यूजिकल ग्रुप द्वारा संगीतमय पूजा-पाठ सम्पन्न कराया गया। तत्पश्चात सिद्ध प्रभु का गुणानुवाद किया गया, जिसमें आयोजन समिति के कोषाध्यक्ष प्रवीन जैन ने बताया कि जब राजा श्रीपाल कुष्ट रोग से ग्रसित हुए थे। तब उनकी रानी मैना सुंदरी ने सिद्धक्षेत्रों एवं अन्य जैनतीर्था की वंदना की, जिसके बाद उन्होंने यही सिद्धचक्र महामंडल विधान आयोजित किया था। जिसके पुण्योदय से राजा श्रीपाल का कुष्ठरोग दूर हो गया था।

उन्होंने कहा कि इसी उददेश्य की पूर्ति हेतु समस्य जैन समाज एवं नगरवासियों के लिए यह महामंडल विधान हितकर होगा। इस मौके पर अनुराज, जौली, सुनील, जखिनयां, सुदीप, बब्बन, राजेश, अजि प्रकाश, नवनीत प्रकाश, अजय, उमेश, दिनेश चंद्र, रमेश चंद्र, पिंकी, निशांक, नीलेश, संजयकांत, मोनू, अखिल, बोन्टी आदि सहित भारी संख्या में श्रद्धालुगण मौजूद थे।

Comments

comments

अपने क्षेत्र में हो रही जैन धर्म की विभिन्न गतिविधियों सहित जैन धर्म के किसी भी कार्यक्रम, महोत्सव आदि का विस्तृत समाचार/सूचना हमें भेज सकते हैं ताकि आप द्वारा भेजी सूचना दुनिया भर में फैले जैन समुदाय के लोगों तक पहुंच सके। इसके अलावा जैन धर्म से संबंधित कोई लेख/कहानी/ कोई अदभुत जानकारी या जैन मंदिरों का विवरण एवं फोटो, किसी भी धार्मिक कार्यक्रम की video ( पूजा,सामूहिक आरती,पंचकल्याणक,मंदिर प्रतिष्ठा, गुरु वंदना,गुरु भक्ति,गुरु प्रवचन ) बना कर भी हमें भेज सकते हैं। आप द्वारा भेजी कोई भी अह्म जानकारी को हम आपके नाम सहित www.jain24.com पर प्रकाशित करेंगे।
Email – jain24online@gmail.com,
Whatsapp – 07042084535