विदिशा के हरिपुरा में नाले की सफाई के दौरान निकली पार्श्वनाथ की प्रतिमा

विदिशा के हरिपुरा क्षेत्र में नाले की सफाई के दौरान निकली मिटटी से जैन धर्म के 23वें तीर्थकर भगवान पाश्र्वनाथ की प्रतिमा निकलने की सूचना मिलते ही समाज के लोगों का तांता लग गया। प्रतिमा की साफ-सफाई कर शीतलधाम में रखवा दिया गया है, जिसके दर्शनों के लिए लोग भक्ति-भाव से पहुंच रहे हैं। जानकारी के अनुसार सुबह नाले के समीप रहने वाले रामचरण शर्मा के घर के पास पीयूष शर्मा, नीलेश शर्मा, प्रशांत शर्मा द्वारा की गई नाले की सफाई के बाद निकले पत्थरों को व्यवस्थित कर रहे थे। अचानक एक पत्थर को पलटा तो उन्हें प्रतिमा होने का एहसास हुआ फिर उन्होंने पानी से प्रतिमा की धुलाई तो देखा कि यह जैन प्रतिमा भगवान पाश्र्वनाथ की है।

उन्होंने तत्काल जैन समाज को सूचित किया। सूचना मिलते ही जैन समाज के अध्यक्ष मुन्नाभैया जैन, ओमप्रकाश जैन, चौधरी प्रकाश सर्राफ, ऋषभ जैन, दीपक जैन, मंजरी जैन, संजय जैन, मनीष सिंघई आदि मौके पर पहुंच गये। इस दौरान वहां काफी भीड इकटठी हो गई। उक्त प्रतिमा चार फुट ऊंची खड़गासन मुद्रा में है और हजारों वर्ष पूर्व की बतायी जा रही है। प्रतिमा में दोनों ओर छह-छह तीर्थकरों की आकृत्ति उत्कीर्ण है। नीचे की ओर यक्ष एवं यक्षिनी की आकृति है और सिर पर नाग है। उक्त प्रतिमा शीतलधाम में रख दी गई है, जहां दिन भर जैन समाज के लोग दर्शनों हेतु आ रहे हैं।

Comments

comments

अपने क्षेत्र में हो रही जैन धर्म की विभिन्न गतिविधियों सहित जैन धर्म के किसी भी कार्यक्रम, महोत्सव आदि का विस्तृत समाचार/सूचना हमें भेज सकते हैं ताकि आप द्वारा भेजी सूचना दुनिया भर में फैले जैन समुदाय के लोगों तक पहुंच सके। इसके अलावा जैन धर्म से संबंधित कोई लेख/कहानी/ कोई अदभुत जानकारी या जैन मंदिरों का विवरण एवं फोटो, किसी भी धार्मिक कार्यक्रम की video ( पूजा,सामूहिक आरती,पंचकल्याणक,मंदिर प्रतिष्ठा, गुरु वंदना,गुरु भक्ति,गुरु प्रवचन ) बना कर भी हमें भेज सकते हैं। आप द्वारा भेजी कोई भी अह्म जानकारी को हम आपके नाम सहित www.jain24.com पर प्रकाशित करेंगे।
Email – jain24online@gmail.com,
Whatsapp – 07042084535