भगवान महावीर 2545 वां निर्वाण महोत्सव की आमंत्रण पत्रिका का पर्यटन मंत्री ने किया विमोचन।

पावापुरी / पटना : जैन धर्म के अंतिम 24 वें तीर्थंकर भगवान महावीर स्वामी के 2545 वां निर्वाण महोत्सव सह पावापुरी महोत्सव के आमंत्रण पत्रिका का विमोचन गुरुवार को पटना सचिवालय में बिहार के पर्यटन मंत्री श्री कृष्ण कुमार ऋषि जी ने किया।

वहीं बिहार स्टेट दिगम्बर जैन तीर्थ क्षेत्र कमिटी के पदाधिकारियों से बात-चीत में पर्यटन मंत्री ने कहा कि बिहार की पावन धरती जैन संस्कृति , तीर्थ , पर्यटन और विरासत की दृष्टि से अतिमहत्वपूर्ण स्थल है जहां विश्व प्रसिद्ध जैन तीर्थ स्थली है। धार्मिक व पर्यटन के दृष्टिकोण से पावापुरी का और भी विकास किया जाएगा । ताकि यहां पहुंचने वाले जैन तीर्थयात्रियों या पर्यटकों को किसी भी तरह की परेशानी ना हो साथ ही अन्य सुविधाएं भी बढ़ाई जाएगी।

इसके अलावा पावापुरी महोत्सव का आयोजन बेहतर तरीके व भव्य रूप से करने की बात कहीं तथा अन्य विकास कार्य पर विचार-विमर्श किया गया। वहीं दिगम्बर जैन समिति के पदाधिकारियों ने कला एवं संस्कृति विभाग के सचिव से भी मुलाकात कर पावापुरी महोत्सव को धार्मिक वातावरण में मनाने के लिए बात-चीत की। मालूम हो कि भगवान महावीर के महापरिनिर्वाण महोत्सव के अवसर पर बिहार सरकार द्वारा राजकीय स्तर पर भव्य पावापुरी महोत्सव का आयोजन किया जाता है।

बता दें कि यह आयोजन दीपावली के मौके पर 26 अक्टूबर से 28 अक्टूबर तक किया जाएगा। जिसमें देश-विदेश से लाखों-लाख की संख्या में जैन धर्मावलंबी नालंदा स्थित पावापुरी पहुंचकर कार्तिक कृष्ण अमावस्या दीपावली को निर्वाण भूमि जलमंदिर में निर्वाण लाडू चढ़ाते है। पत्रिका विमोचन के मौके पर बिहार स्टेट दिगम्बर जैन तीर्थ क्षेत्र कमिटी के मानद मंत्री पराग जैन , प्रबंधक अरुण कुमार जैन , जगदीश जैन , संजीत जैन व अन्य पदाधिकारीगण मौजूद रहें।

 

— प्रवीण जैन (पटना)

Comments

comments

अपने क्षेत्र में हो रही जैन धर्म की विभिन्न गतिविधियों सहित जैन धर्म के किसी भी कार्यक्रम, महोत्सव आदि का विस्तृत समाचार/सूचना हमें भेज सकते हैं ताकि आप द्वारा भेजी सूचना दुनिया भर में फैले जैन समुदाय के लोगों तक पहुंच सके। इसके अलावा जैन धर्म से संबंधित कोई लेख/कहानी/ कोई अदभुत जानकारी या जैन मंदिरों का विवरण एवं फोटो, किसी भी धार्मिक कार्यक्रम की video ( पूजा,सामूहिक आरती,पंचकल्याणक,मंदिर प्रतिष्ठा, गुरु वंदना,गुरु भक्ति,गुरु प्रवचन ) बना कर भी हमें भेज सकते हैं। आप द्वारा भेजी कोई भी अह्म जानकारी को हम आपके नाम सहित www.jain24.com पर प्रकाशित करेंगे।
Email – jain24online@gmail.com,
Whatsapp – 07042084535