चौबीस वें तीर्थंकर भगवान महावीर स्वामी के जन्म कल्याणक पर घरों में गूँजे जियो और जीने दो के नारे।

हर साल की भांति चैत्र मास के शुक्ल पक्ष की त्रयोदशी को चौबीस वें तीर्थंकर वर्तमान शासन नायक भगवान महावीर स्वामी का जन्म कल्याणक महोत्सव धूमधाम के साथ मनाया गया। देश में लॉकडाउन का माहौल चल रहा है अत: कसबे के पारसनाथ दिगंबर जैन मंदिर तालबेहट में ससंघ विराजमान आचार्य आर्जव सागर महाराज के निर्देशानुसार संसार को दो महान सूत्र अहिंसा परमो धर्म एवं जियो और जीने दो प्रदान करने वाले, एकइंद्रिय जीव से पंचइंद्रिय जीव तक को कल्याण की शिक्षा देने वाले, विश्व वंदनीय भगवान महावीर स्वामी के 2619 वे जन्म कल्याणक महोत्सव के पावन पर्व पर विश्व शांति की मंगल भावना के साथ सुबह घर के द्वार को रंगोली से सजाए एवं छत पर धर्म ध्वजा स्थापित कर महावीराष्टक का पाठ किया।

सुप्रभात स्त्रोत का पाठ, नमस्कार मंत्र का जाप, मंगल कलश की स्थापना कर पूजन विधान किया गया। बालकनी, छत एवं द्वार पर सपरिवार खड़े होकर घंटी, वाद्ययंत्र, थाली आदि बजाते हुये भगवान महावीर जन्मकल्याणक की खुशियाँ मनायी, मंगल दीपकों के साथ भगवान महावीर स्वामी की आरती उतारी। अहिंसा सेवा संगठन के संस्थापक विशाल जैन पवा ने कहा भगवान महावीर स्वामी जैन धर्म के 24वें तीर्थकर हैं जिन्होनें पंचमहाव्रत बताए और जैन श्रद्धालु उनका अनुसरण करते हैं। महावीर स्वामी ने कहा है कि मनुष्य का सबसे बड़ा धर्म अहिंसा है। अत: हमें हमेशा जियो और जीने दो के संदेश पर कायम रहना चाहिए।

माननीय प्रधानमंत्री ने अपने उद्बोधन में देश में फैली वैश्विक महामारी और कोरोना वायरस से बचाव हेतु देश के नाम संदेश दिया था कि रविवार को रात्रि ठीक 9.00 बजे सभी को मिलकर 9 मिनट तक अपने घर की सभी लाईट बंद करके अपने घर के गैलरी में या घर की छत पर खड़े रहकर अपने अपने हाथ में मोमबत्ती, दीपक, टॉर्च या मोबाईल की फ्लैश लाईट जलाना है और इस समय में हम अपने मन में यह संकल्प करेंगे कि हम इस लड़ाई मे अकेले नहीं हैं। जिसका स्वागत करतेे हुए उन्होंने कहा कि भगवान महावीर स्वामी के जन्म कल्याणक की पूर्व संध्या पर रोशनी कर पूरे देश को प्रकाशमय  कर दिया साथ ही 9 मिनट तक णमोकार मंत्र का जाप करते रहे।

यह बड़ा ही हर्ष का विषय है कि माननीय प्रधानमंत्री महोदय के उद्बोधन का सम्मान और महावीर जयंती की पूर्व संध्या पर पूरे देश में एक साथ दीपोत्सव के साथ करोड़ों जापों का मंत्रोच्चार हुआ। प्राणी मात्र के प्रति दयाभाव ही अहिंसा है। इस मौके पर वीर सेवा दल ने फल वितरण किया। जिसमें  सकल दिगम्बर जैन समाज तालबेहट एवं वीर सेवा दल के संयुक्त तत्वधान में तालबेहट नगर के कोरोना फाइटर जैसे स्वास्थ्यकर्मी, पुलिसकर्मी, नगर पंचयात कर्मी, सभी सफाई कर्मी, विद्युत कर्मी, गैस कर्मी, वो सभी प्रशासनिक अधिकारी जो इस विषम परिस्थिति में हमारे लिए कुछ ना कुछ कर रहे है उन सभी का फल वितरित कर एक छोटा सा सम्मान किया गया जिसमें जैन सामज के सदस्यों ने दिल खोल कर सहयोग किया। इस दौरान भी सभी लॉक डाऊन के अनुशासन में ही रहे। इस अनूठे कार्यक्रम में भगवान महावीर जी की शोभा यात्रा तो नहीं पर जलसा बहुत ही शानदार रहा।

 

— विशाल जैन पवा

 

 

 

Comments

comments

अपने क्षेत्र में हो रही जैन धर्म की विभिन्न गतिविधियों सहित जैन धर्म के किसी भी कार्यक्रम, महोत्सव आदि का विस्तृत समाचार/सूचना हमें भेज सकते हैं ताकि आप द्वारा भेजी सूचना दुनिया भर में फैले जैन समुदाय के लोगों तक पहुंच सके। इसके अलावा जैन धर्म से संबंधित कोई लेख/कहानी/ कोई अदभुत जानकारी या जैन मंदिरों का विवरण एवं फोटो, किसी भी धार्मिक कार्यक्रम की video ( पूजा,सामूहिक आरती,पंचकल्याणक,मंदिर प्रतिष्ठा, गुरु वंदना,गुरु भक्ति,गुरु प्रवचन ) बना कर भी हमें भेज सकते हैं। आप द्वारा भेजी कोई भी अह्म जानकारी को हम आपके नाम सहित www.jain24.com पर प्रकाशित करेंगे।
Email – jain24online@gmail.com,
Whatsapp – 07042084535