डिलीशियस सेहत भरी रेसिपी खाएं, पोहा कटलेट गरम-गरम चाय के साथ:

शाम को चाय के साथ पकौड़े या कटलेट खाने का मजा ही कुछ और होता है। अगर आप आलू कटलेट खा-खा कर बोर हो चुकी हैं तो, इस बार पोहा कटलेट बनाइये।
पोहा कटलेट बनाने में बहुत ही आसान है और खाने में काफी टेस्टी लगता है। पोहा कटलेट शायद सबसे मशहूर कटलेट हैं.
पिछले हफ्ते में अपने दोस्त वेदांत और ऐश्वर्या से जब मिलने गया तो उन्होने चाय के साथ यह कटलेट बनाए थे जिसके साथ ही बचपन की बहुत सारी यादें ताज़ा हो गयीं.
मुझे यह देख कर बहुत आश्चर्य हुआ कि यह कटलेट अभी तक Food – खाना-खजाना Veg Group में प्रकाशित ही नही हुआ हैं.
तो चलिए ऐश्वर्या को बहुत धन्यवाद देते हुए आपके लिए एक बहुत ही आसानी से बनने वाले स्वादिष्ट पोहा कटलेट की विधि

कितने- 4 सदस्यों के लिये
तैयारी में समय- 10 मिनट
पकाने में समय- 20 मिनट

सामग्री:

पोहा-1 कप
मैदा-2 चम्मच
उबला और मसला आलू- 3 मध्यम
तेल-2 चम्मच डीप फ्राई करने के लिये
जीरा-1/2 चम्मच
राई -1/2 चम्मच
लाल मिर्च पावडर-1 चम्मच
बारीक हरी मिर्च-2
हल्दी पावडर-1/4 चम्मच
नमक- स्वादअनुसार
काजू-10 कटे हुए
नींबू का रस- 1 चम्मच

विधि :

पोहे को 5 मिनट के लिये पानी में भिगो कर रखें।
पैन में तेल गरम करें, उसमें जीरा, राई, 2 चम्मच मैदा डाल कर 2-3 मिनट के लिये रोस्ट करें।
अब इसमें लाल मिर्च पावडर, कटी हरी मिर्च, हल्दी पावडर डाल कर मिक्स करें।
इसे आंच से हटा दें और मिश्रण को एक कटोरे में पलट लें।
इस मिश्रण के साथ भिगोया हुआ पोहा, नमक, कटी हरी धनिया, कटे काजू और नींबू का रस मिक्स करें।
अब इस मिश्रण को 8 से 12 भागों में काट कर कटलेट का शेप दें।
कढ़ाई चढ़ा कर तेल गरम करें।
उसमें तैयार कटलेट्स को गोल्डन ब्राउन होने तक तलें।
जब कटलेट तैयार हो जाए, तब उसे टिशू पेपर पर निकाल कर हरी चटनी के साथ सर्व करें।
आपकी राय और सुझावों का हमेशा की तरह इंतजार रहेगा.

By: Ashish Sarabhai

Comments

comments

अपने क्षेत्र में हो रही जैन धर्म की विभिन्न गतिविधियों सहित जैन धर्म के किसी भी कार्यक्रम, महोत्सव आदि का विस्तृत समाचार/सूचना हमें भेज सकते हैं ताकि आप द्वारा भेजी सूचना दुनिया भर में फैले जैन समुदाय के लोगों तक पहुंच सके। इसके अलावा जैन धर्म से संबंधित कोई लेख/कहानी/ कोई अदभुत जानकारी या जैन मंदिरों का विवरण एवं फोटो, किसी भी धार्मिक कार्यक्रम की video ( पूजा,सामूहिक आरती,पंचकल्याणक,मंदिर प्रतिष्ठा, गुरु वंदना,गुरु भक्ति,गुरु प्रवचन ) बना कर भी हमें भेज सकते हैं। आप द्वारा भेजी कोई भी अह्म जानकारी को हम आपके नाम सहित www.jain24.com पर प्रकाशित करेंगे।
Email – jain24online@gmail.com,
Whatsapp – 07042084535