प्रणम्य सागर जी महाराज

पूर्व नाम ब्र. सर्वेश जी
पिता-माता श्री वीरेन्द्र कुमार जी जैन
श्रीमती सरिता देवी जैन
जन्म 13.09.1975
भाद्रपद शुक्ल अष्टमी
भोगांव, जिला मैनपुरी (उत्तर प्रदेश)
वर्तमान में सिरसागंज, फिरोजाबाद (उत्तर प्रदेश)
शिक्षा बीएससी (अंग्रेजी माध्यम)
भाई सचिन जैन
बहिन सपना जैन
गृह त्याग 09.08.1994
क्षुल्लक दीक्षा 09.08.1997 नेमावर
एलक दीक्षा 05.01.1998 नेमावर
मुनि दीक्षा 11.02.1998 माघ सुदी 15, बुधवार, मुक्तागिरीजी
दीक्षा गुरु आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज




Related News

आखिर क्या है प्राकृत? क्यों सीखे प्राकृत? जैन धर्म का प्राकृत...

जब परम पूज्य प्राकृत मर्मज्ञ मुनि श्री 108 प्रणम्य सागर जी महाराज के मंगल आशीर्वाद से प्राकृत ऑनलाइन पाठशाला का शुभारंभ हुआ तो बहुत...

प्राकृत दीक्षांत समारोह मुनिश्री प्रणम्य सागर के सानिध्य में संपन्न, प्राकृत...

मेरठ, प्राचीन परंपरा और अनूठी संस्कृति को समेटे देश की प्राचीन लिपि यानी प्राकृत भाषा केवल जैन धर्म की नहीं अपितु जन-जन की भाषा...

मेरठ में प्राकृत दीक्षांत समारोह का आयोजन 13 अक्टूबर को मुनिश्री...

मेरठ, परमपूज्य आचार्य मुनिवर श्री विद्यासागर जी महाराज के परम प्रभावक शिष्ट प्राकृत मर्मज्ञ, मुनिश्री 108 प्रणम्य सागर जी महाराज एवं मुनिश्री चंद्र सागर...