दिगम्बर जैन मंदिर से अष्टधातु की मूर्तियां चोरी

रामनगर-बाराबंकी। थाना रामनगर अन्तर्गत कस्बा गनेशपुर स्थित प्रसिद्ध दिगम्बर जैन मन्दिर का ताला तोड़कर अज्ञात चोरों ने करोड़ों रूपये कीमत की तीन अष्टधातु की मूर्तियां सिंहासन छत्र आभामण्डल सहित करोड़ों के सामान पर हाथ साफ कर दिया।

सुबह जानकारी होने पर दी गई सूचना पर एसपी वैभव कृष्ण, एएसपी कुंवर ज्ञानन्जय सिंह, सीओ श्रीपाल यादव, प्रभारी निरीक्षक सुधीर कुमार सिंह फिंगर प्रिन्ट स्वाट टीम व डाग सयड के साथ मौके पर जाकर गहन जांच पड़ताल कर चोरों की शीघ्र गिरफ्तारी करने को कहा है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार कस्बा गनेशपुर में म्बिर जैन तीन मंजिला प्राचीन मन्दिर है। बीते बुधवार की रात अज्ञात चारों ने मन्दिर के मुख्य द्वार का ताला तोड़कर अन्दर प्रवेश कर दो और ताले तोड़कर मन्दिर के अन्दर स्थापित माता पद्मावती व सिद्ध भगवान की अष्टधातु की बेशकीमती तीन मूर्तियों, चांदी के 14 सिंहासन, 25 छत्र तथा 8 आभा मण्डल जिनकी कीमत लगभग 30 लाख रूपये कुल मिलाकर करोड़ों की कीमत के सामान पर हाथ साफ कर दिया। यही नहीं चोरों ने लोहे के चार दानपात्रों को उखाड़कर उसके अन्दर रखी नकदी पर भी हाथ साफ किया। सुबह चोरी की जानकारी होने पर मन्दिर कमेटी के लोगों ने इसकी सूचना थाने पर दी।

एसपी वैभव कृष्ण, एएसपी कुंवर ज्ञानन्जय सिंह, सीओ सीओ श्रीपाल यादव व प्रभारी निरीक्षक सुधीर कुमार सिंह, फिंगर प्रिन्ट टीम, सर्विलांस टीम, स्वाट टीम व डाग सयड के साथ घटनास्थल पर पहुंचकर गहन जांच पड़ताल की। एसपी ने शीघ्र ही घटना का खुलासा करने को कहा है। मन्दिर कमेटी के अध्यक्ष वृद्धी जैन ने घटना की लिखित तहरीर दी है। मन्दिर में हुई चोरी की घटना पर कस्बावासियों में घोर रोष व्याप्त है। दुकानदारों व्यपारियों ने अपनी दुकानें भी बन्द कर रखीं हैं। सभी लोगों का कहना है कि यदि एक सप्ताह के अन्दर घटना का खुलासा न किया गया तो बड़ा जनांदोलन होगा।

 

Comments

comments

अपने क्षेत्र में हो रही जैन धर्म की विभिन्न गतिविधियों सहित जैन धर्म के किसी भी कार्यक्रम, महोत्सव आदि का विस्तृत समाचार/सूचना हमें भेज सकते हैं ताकि आप द्वारा भेजी सूचना दुनिया भर में फैले जैन समुदाय के लोगों तक पहुंच सके। इसके अलावा जैन धर्म से संबंधित कोई लेख/कहानी/ कोई अदभुत जानकारी या जैन मंदिरों का विवरण एवं फोटो, किसी भी धार्मिक कार्यक्रम की video ( पूजा,सामूहिक आरती,पंचकल्याणक,मंदिर प्रतिष्ठा, गुरु वंदना,गुरु भक्ति,गुरु प्रवचन ) बना कर भी हमें भेज सकते हैं। आप द्वारा भेजी कोई भी अह्म जानकारी को हम आपके नाम सहित www.jain24.com पर प्रकाशित करेंगे।
Email – jain24online@gmail.com,
Whatsapp – 07042084535