दयोदय गौशाला में पंचकल्याणक प्रतिष्ठा और गजरथ महोत्सव के लिए युद्ध स्तर पर चल रही हैं तैयारियां, सजाया जा रहा है नगर

ललितपुर। आगामी 24 नवम्बर से अपराजेय साधक संत शिरोमणि आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज ससंघ के सान्निध्य में दयोदय गौशाला परिसर मसौरा ललितपुर में होने जा रहे श्री 1008 मज्जिनेन्द्र पंचकल्याणक प्रतिष्ठा एवं गजरथ महा महोत्सव तथा विश्वशांति महायज्ञ के लिए दयोदय गौशाला में युद्ध स्तर पर तैयारियां चल रही हैं।

समारोह स्थल को जहां खूब सजाकर आकर्षक बनाया जाएगा वहीं भारी जनसैलाव उमड़ने की संभावना को देखते हुए तमाम व्यवस्थाओं को व्यवस्थित करने में कार्यकर्ता रात-दिन जुटे हुए हैं। मुख्य पंडाल में वेदिका का निर्माण द्रुत गति से चल रहा है। मुख्य पंडाल में हजारों लोगों के बैठने के हिसाब से भव्य पंडाल तैयार किया जा रहा है। पांडुक शिला का निर्माण भी चल रहा है। जन सुविधाओं के लिए जहां बड़ी संख्या में पक्के शौचालयों का निर्माण कार्य प्रगति पर है वहीं अस्थायी शौचालय भी पर्याप्त मात्रा में बनाये जा रहे हैं।

स्थायी और अस्थायी आवास निर्माण किये जा रहे हैं। संतों की आहारचर्या के लिए भी दो मंजिला निर्माण हो रहा है। 350×84 की जनरल भोजन शाला के लिए भी सुविधायुक्त पंडाल बनाया जा रहा है। इसके अलावा त्यागी-व्रतियों, पंचकल्याणक के पात्रों के लिए शुद्ध भोजन हेतु भोजनशाला का समुचित प्रबंध किया जा रहा है। आवास एवं चौका लगाने हेतु व्यवस्थाओं को अंतिम रूप दिया जा रहा है। सुरक्षा व्यवस्था हेतु भी कार्य चल रहा है।

वाहनों की पार्किंग के लिए एक पार्किंग स्थल बनाने का कार्य परिसर के बगल में चल रहा है। इसके अलावा अस्थायी बाजार के लिए कार्य किया जा रहा है। आयोजन स्थल पर लोगों की सुविधा के लिए अनेक कार्यालय भी स्थापित रहेंगे , जैसे पूछताछ कार्यालय, आवास, परिवहन, भोजन, अमानती सामान आदि।

आकर्षण का केन्द्र रहेगा सफेद संगमरमर से निर्मित मंदिर और स्तम्भ :

समारोह स्थल पर आकर्षण का केंद्र यहाँ नव निर्मित मंदिर, मानस्तम्भ, आचार्य विद्यासागर कीर्ति स्तम्भ रहेंगे जो सभी को अपनी भव्य , मनोरम बनावट के कारण सभी को अपनी ओर आकर्षित करेंगे। इनका निर्माण सफेद संगमरमर से बाहर से आये कुशल कारीगरों द्वारा किया गया है। उल्लेखनीय है कि यह भव्य मंदिर आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज के परम प्रभावक शिष्य, तरूणाई के प्रखर वक्ता, मुनि प्रमाण सागर जी महाराज की पावन प्रेरणा से अल्प समय में ही  अथक श्रमपूर्वक  बनवाया गया है।।मंदिर प्रांगण में नव निर्मित भव्य कीर्ति स्तम्भ, मानस्तम्भ का  शिलान्यास आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज की परम  शिष्या  वंदनीय आर्यिका रत्न  पूर्णमती माता जी संसघ के सान्निध्य में हुआ था। यह दोनों बनकर तैयार हो गये हैं। गौशाला में निर्मित इसी भव्य संगमरमरी जिनालय का पंचकल्याणक महोत्सव सम्पन्न होने जा रहा है।

सागर रोड के हाईवे से गुजरने वाले सभी लोगों को रोड से ही यह भव्य मंदिर दिखाई देगा। यहां से आने-जाने वाले सभी लोगों के लिए यह दर्शनीय होगा। मंदिर, स्तम्भ का निर्माण जिस कलाकारी के साथ किया गया उससे प्रत्येक व्यक्ति अपने आप खिचा चला आएगा। मंदिर के चारों ओर का प्राकृतिक मनमोहनीय वातावरण चुंबकीय आकर्षण पैदा करेगा। आने वाले समय में सफेद संगमरमर का यह मंदिर ललितपुर की सांस्कृतिक और धार्मिक परंपरा में नए आयाम स्थापित करेगा।

आयोजन की ऐतिहासिक सफलता के लिए दिगम्बर जैन पंचायत समिति, पंचकल्याणक प्रतिष्ठा महोत्सव समिति के साथ ही अनेक उप समितियों के कार्यकर्त्तागण अथक श्रम कर महोत्सव की तैयारियों को अंतिम रूप देने में जुटे हुए हैं।

एसडीएम ने किया आयोजन स्थल का निरीक्षण :

कैप्टन राजकुमार जैन ने बताया कि शनिवार को एसडीएम घनश्याम वर्मा ने गौशाला पहुँचकर समारोह स्थल का निरीक्षण किया और समिति के पदाधिकारियों के साथ आवश्यक बैठक कर कार्यक्रम के संबंध में जानकारी भी ली।

ज्ञानचंद्र इमलिया अध्यक्ष पंचकल्याणक महोत्सव समिति, जैन पंचायत के अध्यक्ष इंजी. अनिल अंचल, महामंत्री डॉ. अक्षय टडैया, संयोजक प्रदीप सतरवांस, स्वागत अध्यक्ष नरेन्द्र कड़ंकी, जनरल कैप्टन मेला कैप्टन राजकुमार जैन, संतोष इमलिया, अभिषेक मुच्छाल, पंकज मोदी पार्षद, डॉ. संजीव कड़ंकी, डॉ. सुनील संचय, संजीव सीए, महेंद्र सिंघई, अनूप कैरू, नेमिचन्द्र चंद्रा,श्रीश जैन, सत्येन्द्र गदयाना,  जितेंद्र राजू,धर्मेंद्र सिंघई, धन्यकुमार करमुहारा,  विनोद कामरा, शैलेन्द्र जैन, मनोज बबीना, संजय जैन, मुकेश जैन, अनूप जैन आदि प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।

ललितपुर की ओर बढ़ रहे हैं आचार्यश्री के कदम :

17 नबम्बर की  प्रातः आचार्य श्री विद्यासागर मुनिराज के आहार धमना -दिगौडा में हुए जहां उनके पाद प्रक्षालन का सौभाग्य पश्चिम बंगाल से पधारे एक ऐसे परिवार को प्राप्त हुआ जिसने आज पहली बार ही आचार्य विद्यासागर जी महाराज ससंघ के दर्शन किये थे। कल प्रातः 7:30 बजे लगभग मुनि संघ का मंगल प्रवेश बंधाजी क्षेत्र पर होगा। विहार में नगर के कमंडल सेवा मंडल के साथ ही अनेकों लोग साथ चल रहे हैं। जैसे-जैसे आचार्यश्री ससंघ के पग ललितपुर के निकट आ रहे हैं लोगों की खुशी और उत्साह बढ़ता जा रहा है।

-डॉ. सुनील संचय , मीडिया प्रभारी-पंचकल्याणक प्रतिष्ठा महोत्सव ललितपुर

Comments

comments

अपने क्षेत्र में हो रही जैन धर्म की विभिन्न गतिविधियों सहित जैन धर्म के किसी भी कार्यक्रम, महोत्सव आदि का विस्तृत समाचार/सूचना हमें भेज सकते हैं ताकि आप द्वारा भेजी सूचना दुनिया भर में फैले जैन समुदाय के लोगों तक पहुंच सके। इसके अलावा जैन धर्म से संबंधित कोई लेख/कहानी/ कोई अदभुत जानकारी या जैन मंदिरों का विवरण एवं फोटो, किसी भी धार्मिक कार्यक्रम की video ( पूजा,सामूहिक आरती,पंचकल्याणक,मंदिर प्रतिष्ठा, गुरु वंदना,गुरु भक्ति,गुरु प्रवचन ) बना कर भी हमें भेज सकते हैं। आप द्वारा भेजी कोई भी अह्म जानकारी को हम आपके नाम सहित www.jain24.com पर प्रकाशित करेंगे।
Email – jain24online@gmail.com,
Whatsapp – 07042084535