खुदाई में मिली परमार कालीन जैन तीर्थंकर पार्श्वनाथ प्रतिमा

3 जून 2020 को खरगोन से 18 किमी दूर जैन तीर्थ स्थल ऊन के नारायण कुंड में मनरेगा योजनांतर्गत चल रहे कार्य की खुदाई के दौरान जैन तीर्थंकर पार्श्वनाथ की प्रतिमा प्राप्त हुई है। पुरातत्व संग्रहालय के अधिकारी सुलतानसिंह ने बताया कि परमार कालीन यह प्रतिमा संभवतः किसी मंदिर की प्रतिमा होगी, जो मंदिरों के आले (ताक) में स्थापित की जाती है। चूंकि ऊन जैन शिक्षा केंद्र का बड़ा केंद्र रहा है। जैन तीर्थंकर की यह प्रतिमा क्षरित प्रतिमा हैं। इस प्रतिमा में परिचायकों का भी अंकन किया गया है। जनपद पंचायत सीईओ राजेंद्र शर्मा ने बताया कि ऊन के नारायण कुंड में मनेरगा के अंतर्गत नाला उपचार कार्यक्रम किया जा रहा था। इस दौरान खुदाई में ढाई से तीन फिट की जैन तीर्थंकर प्रतिमा प्राप्त हुई है। जानकारी मिलते ही उच्च अधिकारियों को बताया गया और पुरातत्व विभाग से भी संपर्क किया गया। अभी यह प्रतिमा जनपद कार्यालय में रखी गई है।

— Sanmati Jain Kaka

Comments

comments

अपने क्षेत्र में हो रही जैन धर्म की विभिन्न गतिविधियों सहित जैन धर्म के किसी भी कार्यक्रम, महोत्सव आदि का विस्तृत समाचार/सूचना हमें भेज सकते हैं ताकि आप द्वारा भेजी सूचना दुनिया भर में फैले जैन समुदाय के लोगों तक पहुंच सके। इसके अलावा जैन धर्म से संबंधित कोई लेख/कहानी/ कोई अदभुत जानकारी या जैन मंदिरों का विवरण एवं फोटो, किसी भी धार्मिक कार्यक्रम की video ( पूजा,सामूहिक आरती,पंचकल्याणक,मंदिर प्रतिष्ठा, गुरु वंदना,गुरु भक्ति,गुरु प्रवचन ) बना कर भी हमें भेज सकते हैं। आप द्वारा भेजी कोई भी अह्म जानकारी को हम आपके नाम सहित www.jain24.com पर प्रकाशित करेंगे।
Email – jain24online@gmail.com,
Whatsapp – 07042084535